Search This Blog

बच्चों को आम से खास बनाने का काम करते है समर कैंप

गर्मी की छुट्टियाँ शुरू होते ही बच्चे अपने खाली दिनों का भरपूर मज़ा उठाना चाहते हैं, चाहे देर तक सो कर उठाना हो या बाहर खेलना. उन्हें हर प्रकार से आज़ादी चाहिए होती है पर ऐसे में इन दिनों में उनकी पढाई पर कोई प्रभाव ना पड़े इसकी चिंता विशेषत:
माता-पिता को होती है. माता-पिता का पूरा ध्यान इस बात पर रहता है कि कैसे इन खाली दिनों को मनोरंजन, पढाई एवं सीख से भर दिया जाए ताकि बच्चे अपनी पढाई के साथ-साथ मनोरंजन का भी भरपूर लाभ उठा पाएं.


आजकल विभिन्न विद्यालयों, स्वयंसेवी संस्थाओं द्वारा समर क्लासेस/कैम्प्स बच्चों को ऐसी  क्लासेज मुहैया करवा रहे हैं जहाँ बच्चों को उनकी पढाई के साथ-साथ कला, नृत्य, संगीत आदि से जुडी कई नई चीज़े सिखाई जाती हैं.

जी.टी.बी नगर स्थित ब्राइट बिगिनर्स प्ले स्कूल में राष्ट्रीय संग्रहालय संस्थान के एमए के छात्रों इप्शिता वर्मा, सुरभि शुभम एवं शिवांगी पंवर द्वारा 16 जून से 7 दिनों के ऐसे ही एक समर कैंप का आयोजन हो रहा है. जिसमे की 5 से 12 वर्ष के विद्यार्थियों के लिए दो बैच में उन्हें कला से जुडी कई चीज़े सिखाई जाएँगी. इसमें उन्हें पेंटिंग, पेपर फोल्डिंग, पेपर कटिंग के साथ ही आर्ट एवं क्राफ्ट की अन्य चीज़े बनाना भी सिखाया जाएगा. छात्रों के मनोरंजन के साथ उनकी पढाई का ध्यान रखते हुए उन्हें कला की विभिन्न पहलुओं से भी परिचित कराए जाने का भी उद्देश्य होगा ताकि बच्चे अपनी कला के साथ-साथ ज्ञानवर्धक बातें भी सीख सके.


इस कैंप के आयोजक के अनुसार,“आजकल के बच्चे पढाई के साथ ही अन्य क्षेत्र में भी आगे रहना चाहते हैं और समर कैंप जैसी जगह उनके लिए एक बेहतरीन अवसर साबित हो सकती है जहाँ उन्हें पढाई के साथ ही कला से परिचय का एक मौका मिलेगा”.

16 जून से शुरू इस कैंप में बच्चों को एक नई यादगार छुटियाँ बिताने का मौका मिलेगा जहाँ ना केवल उन्हें कला से जुडी चीज़े सिखाई जाएँगी बल्कि उन्हें कला के बारे में अन्य जानकारियाँ भी दी जाएँगी, जो की बच्चो के लिए अत्यंत लाभप्रद साबित हो सकती हैं. बच्चों के लिए कला को जानना उतना ही आवश्यक है जितना की अन्य विषयों के बारे में रूचि रखना या जानना. अक्सर माता पिता अन्य विषयों की अपेक्षा कला को उतनी एहमियत नहीं देते जितना की अनिवार्य है परन्तु उन्हें इस बात का विशेष ध्यान रखना चाहिए कि बच्चों के सर्वांगीण विकास हेतु उन्हें ऐसी नई एवं रोचक विषयों के प्रति जागरूक रखना आवश्यक है और कला उन्ही में से एक है. तो इन छुट्टियों में अपने बच्चों को एक नया अनुभव कराएँ और ऐसी रोचक गतिविधियों से परिचित करवाएं.


No comments:

Post a Comment